जब कलाम साहब ने मुझे भेजी शुभकामनाएं

मेरे पास सबसे खास और अनमोल चीजों में से एक है पूर्व राष्ट्रपति डाॅ. कलाम साहब द्वार भेजी गई शुभकामनाओं वाला एक पत्र। यह 2005 की बात है। तब मैं मेरे गांव कोलसिया में लाइब्रेरी (गांव का गुरुकुल) चलाया करता था। लाइब्रेरी में कुछ किताबें डाॅ. कलाम की भी थीं और मैं उन्हें कई बार पढ़ चुका था।



एक दिन मैंने लाइब्रेरी के बारे में कलाम साहब को पत्र लिखा। मैंने उन्हें लिखा कि कैसे आपके विचाराें से मैं प्रभावित हूं और मेरी लाइब्रेरी को हर गांव तक पहुंचाना चाहता हूं। पत्र राष्ट्रपति को भेज दिया।

एक-दो दिन मुझे यह बात याद रही। फिर पत्र वाली बात भूल गया। शायद यह सोचकर कि डाॅ. कलाम जैसी शख्सियत के पास मेरे जैसे लड़के के लिए कहां वक्त होगा...।

कुछ दिनों बाद मेरे घर पर एक रजिस्टर्ड पत्र आया। खोलकर देखा, डाॅ. कलाम ने मुझे शुभकामनाएं भेजी हैं। वह दिन मेरे लिए और मेरी लाइब्रेरी के लिए बहुत खुशी का दिन था।

कलाम साहब प्रसिद्धि के शिखर पर थे। उनके पास तो लाखों पत्र आते थे। ऐसे में गांव के एक मामूली लड़के को शुभकामना संदेश भेजना यही साबित करता है कि वे सच में बहुत महान थे। उनकी ओर से भेजा गया वह पत्र आज भी मैंने संभालकर रखा है और हमेशा रखूंगा।





Abdul Kalam, Tribute To Kalam, APJ Abdul Kalam, When Kalam Replied Me, Abdul Kalam Died, Letter Of Abdul Kalam, Kolsiya, Kolsia, Ganv Ka Gurukul, Gaon Ka Gurukul


Comments

  1. ॐ. Let us come together to work more & more for the wellbeing of our Rural Bharat( Clean, Green & Prosperous Nation).
    Sincerely yours
    DrVD Sharma [M.Sc.(Sustainable Development), M.A.(Eco), B.Ed. PGDFM, Ph.D.]
    Gandhian Professor, Deptt. of Business Economics, Faculty of Management Studies
    Gen. Secy./ Rahstriya Shaikshik Mahsangh, University Campus Unit
    VBS Purvanchal University Jaunpur - 222003 (U. P) BHARAT
    Social Media Activist [Rajya Prabhari Social Media, Bharat Swabhiman, U.P.(E)]
    Cell phone: -9919883533, 8604263090, E-mail ID: drvds59@gmail.com

    ReplyDelete
  2. प्रिय शर्मा जी,

    आप यकीन नहीं करेंगे की जब में आपकी लिखी इस बात को पढ़ रहा था
    तब मेरे शरीर में एक करंट सा दौड़ गया, मेरे रौंगटे खड़े हो गए

    में आपको इस घटनाक्रम के लिए अनेक अनेक शुभकामनाये पेश करता हूँ

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

मारवाड़ी में पढ़िए पैगम्बर मुहम्मद साहब की जीवनी

आखिरी हज में पैगम्बर मुहम्मद साहब (सल्ल.) ने पूरी दुनिया के नाम दिया था यह पैगाम

A-Part of Ganv Ka Gurukul