वह ब्रिटेन जिसकी मैं तारीफ करता हूं



मुझे वह ब्रिटेन पसंद नहीं जिसने भारत पर शासन के दौरान मेरे देशवासियों पर जुल्म ढाए, लेकिन मैं उस ब्रिटेन की तारीफ करता हूं जिसने दुनिया को लोकतंत्र, मानवाधिकार, कर्तव्य अौर समानता का पाठ पढ़ाया। वहां लोकतंत्र की जड़ें बहुत गहरी हैं।

ब्रिटेन दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र होने का दावा नहीं कर सकता लेकिन वह एक अच्छे लोकतंत्र के प्रति भरोसा मजबूत कर सकता है।

हम दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र होने का दावा तो रोज करते हैं लेकिन यह सबसे अच्छा आैर सबसे मजबूत लोकतंत्र कब होगा, इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

इस तस्वीर में हैं- ब्रिटेन के पीएम श्री डेविड कैमरून... जो सफर के दौरान एक कोने में खड़े हैं आैर अखबार पढ़ रहे हैं। भारत में तो हम राजनेताआें से एेसे दृश्य की सिर्फ कल्पना ही कर सकते हैं।

- राजीव शर्मा, कोलसिया -


Comments

Popular posts from this blog

मारवाड़ी में पढ़िए पैगम्बर मुहम्मद साहब की जीवनी

आखिरी हज में पैगम्बर मुहम्मद साहब (सल्ल.) ने पूरी दुनिया के नाम दिया था यह पैगाम

क्या कुरआन में आतंकवाद फैलाने की शिक्षा दी गई है? मुझसे जानिए इस किताब की हकीकत